माइक्रोसॉफ्ट से जुड़े 8 रोचक और मजेदार तथ्य


0

आज के समय में कंप्यूटर इंसान की पहली जरूरत बन चुका है. दफ्तरी काम काजों से लेकर पढ़ाई और एंटरटेनमेंट में कंप्यूटर का ख़ास योगदान रहा है. आज की दुनिया हम बिना कंप्यूटर के सोच भी नहीं सकते. कंप्यूटर की इस दुनिया में “माइक्रोसॉफ्ट” कंपनी का नाम सबसे ऊपर आता है. बिल गेट्स के सबसे अमीर व्यक्ति बन्ने के पीछे भी इस माइक्रोसॉफ्ट का ही हाथ है. आज हम आपको इस कंपनी से जुड़े 8 ऐसे मजेदार और रोचक तथ्यों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपको भी हैरत में डाल देंगे. तो आईये जानते हैं आखिर क्या है इस कंपनी का वजूद…

कंपनी की स्थापना

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की स्थापना साल 1975 में बिल गेट्स और पॉल एलन द्वारा की गई थी. हालाँकि इस कंपनी का पहला नाम माइक्रो- सॉफ्ट था फिर बाद में बदल कर माइक्रोसॉफ्ट कर दिया गया था.

महज़ एक दिन में बना था लोगो

आज के समय में वेबसाइट के डिजाईन की बात करें तो इसे सोचने में लोग कईं दिन लगा देते हैं. लेकिन माइक्रोसॉफ्ट कंपनी दुनिया की पहली ऐसी कंपनी है जिन्होंने अपनी कंपनी का लोगो महज एक दिन में तैयार किया था.

बिल गेट्स को बनाया अमीर इंसान

आज देश और दुनिया का हर बच्चा जानता है कि बिल गेट्स दुनिया के सबसे अमीर इंसान हैं. लेकिन उन्हें यह अमीरी कहाँ से मिली यह बात आप में से कईं लोग नहीं जानते होंगे. दरअसल माइक्रोसॉफ्ट ही एकमात्र ऐसी वजह है जिसने रातों रात बिल गेट्स को खरबपति बना दिया. एक रिसर्च के अनुसार Windows XP का बैकग्राउंड आज तक के इतिहास में सबसे अधिक बार डाउनलोड किया गया फ़ोटो है.

खुद बिल गेट्स करते थे विज्ञापन

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि बिल गेट्स आज भले ही दुनिया के सबसे अमीर इंसान बन चुके हैं लेकिन उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट की स्थापना के बाद काफी स्ट्रगल किया था. यहाँ तक कि कंपनी के शुरूआती दिनों में बिल गेट्स खुद टीवी पर विंडोज की एड दिया करते थे.

माइक्रोसॉफ्ट वाच

गौरतलब है कि सॉफ्टवेर बनाने वाली इस कंपनी ने साल 19९४ में टाईमैक्स के साथ मिल कर दुनिया की सबसे पहली स्मार्टवाच तैयार की थी. जिसे काफी पसंद किया गया था. हालाँकि आज मार्किट में कईं ब्रांडेड कंपनियां अपनी स्मार्टवाच लांच कर रही हैं.

ये है कैंपस का पसंदीदा फ़ूड

आज की युवा पीढ़ी खाने पीने की काफी शौक़ीन है. ऐसे में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी में स्टाफ के खाने पीने का ख़ास ख्याल रखा जाता है. बता दें कि कैंपस का सबसे पसंदीदा फ़ूड पिज़्ज़ा है. कंपनी रोज़ अपने अंडर काम करने वाले कर्मचारियों को फ्री ड्रिंक्स प्रोवाइड करवाती है.

कैंपस में हैं कईं खरगोश

माइक्रोसॉफ्ट कंपनी में काम करने वाले लोगों को सोफ्टी कहा जाता है. ख़बरों की माने तो कंपनी के कैंपस में छोटे बड़े कईं खरगोश रखे गए हैं.

कौन है कपंनी के सीईओ

माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के सीईओ का नाम सत्य नाडेला है. कपनी ने शुरुआत से लेकर अभी तक 150 बड़ी कंपनी को खरीदा है जिसमे नोकिया और स्काइप जैसी नामी गिरामी कंपनियां भी शामिल हैं.


Like it? Share with your friends!

0
Kirti Kalra

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *